World's Largest Youth Network

महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती

महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती

पृष्ठभूमि

1. माननीय प्रधानमंत्री श्रीनरेंद्रमोदीजी ने 68वें स्वतंत्रता दिवस पर लालकिले के प्राचीर से राष्ट्र के अपने पहले संबोधन के दौरान लोगों से अपने आस-पास को साफ और हरारखने के लिए आग्रह किया था। स्वच्छता एवं सफाई महात्मा गांधीजी दिल के करीबथीऔर उनके लिए ईश्वर के बाद दूसरा स्थान स्वच्छता का था। देशभर में स्वयंसेवा एवं स्वैच्छिकता की भावना के साथ देश कोगंदगी से मुक्तकराने के लिए युवा नेतृत्व में आन्दोलन करना बापू की 150वीं जयंतीपर एक बड़ी श्रद्धांजलि होगी।

2. मंत्रिपरिषद/विभागों द्वारा महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती मनाने के लिए आयोजित किए जा सकने वाले विभिन्न कार्य क्रमों एवं गतिविधियों के बारे में चर्चा करने के लिए कैबिनेट सचिव की अध्यक्षता में समिति कक्ष, कैबिनेट सचिवालय, राष्ट्रपतिभवन, नई दिल्लीमें 18 अप्रैल, 2018 को एक बैठक आयोजित की गईथी।

3. सचिव(युवा मामले),युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय ने बताया कि युवाओं के बीच गांधीजी की नैतिकता, आदर्श और स्वैच्छिक कार्य की भावना को बढ़ावा दिया जाना चाहिए और उन्हें प्रोत्साहित किया जाना चाहिए ताकि उन्हें वे अपने जीवन में अपनासकें। इसके अलावा, युवा भारत और हिंदस्वराज के लिए गांधीजी द्वारा अपनाये गए सिद्धांतों को युवाओं के बीच प्रचारित किया जा सकता है।

इसी प्रकार, गांधीजी और उनके महत्व से जुड़े स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए जाने चाहिए और इन स्थानों पर गांधीजी के जीवन में होने वाली घटनाओं को फिर से जीवित किया जा सकता है।राष्ट्रीय एकता शिविरों में गांधी के जीवन और कार्य पर एक स्पष्ट मॉड्यूल की योजना बनाई जानी चाहिए, उदाहरण के लिए गांधीजी पर एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता शामिल हो सकती है-उनका जीवन और कार्य। प्रेरणा और नेतृत्व कार्यक्रम में गांधीवादी नैतिकता और संदेश पर एक मॉड्यूल आयोजित किया जा सकताहै।

उद्देश्य

मुख्य उद्देश्य निम्नानुसार हैं :

दो वर्ष का गांधी जयंती समारोह 2 अक्टूबर, 2018 से शुरू होगाऔर 2 अक्टूबर 2020 को सम्पन्न होगा।